रक्षा बंधन कब हैं और क्यों मनाया जाता हैं | रक्षा बंधन कैसे मनाया जाता है | Raksha Bandhan History in Hindi

रक्षा बंधन कब हैं और क्यों मनाया जाता हैं | रक्षा बंधन कैसे मनाया जाता है | Raksha Bandhan History in Hindi


रक्षा बंधन कब हैं और क्यों मनाया जाता हैं | रक्षा बंधन कैसे मनाया जाता है | Raksha Bandhan History in Hindi

आज आप इस लेख के माध्यम से रक्षा बंधन क्या हैं, रक्षा बंधन का शुभ मुहूर्त एवं पंचांग कब हैं, रक्षा बंधन की कहानी, रक्षा बंधन का इतिहास, Raksha Bandhan Essay In Hindi, Raksha Bandhan Image, Raksha Bandhan Quotes in Hindi, Raksha Bandhan Status in Hindi, Raksha Bandhan Shayari in Hindi के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी प्राप्त करेंगे.

रक्षा बंधन पर्व 2021 (Raksha Bandhan 2021 in Hindi) का नाम सुनते ही भाई बहनों के चेहरे ख़ुशी से खिल जाते हैं. भाई बहन का रिश्ता ऐसा होता हैं जिसे शब्दों में बयां करना नामुमकिन हैं.

भाई बहन का रिश्ता बहुत ही अधिक पवित्र होता हैं इसलिए सम्पूर्ण विश्व में इस रिश्ते का बहुत ज्यादा सम्मान किया जाता हैं. रक्षा बंधन 2021 (Raksha Bandhan 2021 Hindi) भारत (India) में मनाया जाने वाला एक प्रमुख त्योहार हैं. रक्षा बंधन पर्व 2021 (Raksha Bandhan in Hindi) पूरे देश में बहुत ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता हैं.

भाई बहन का रिश्ता बहुत ही अधिक पवित्र होता हैं इसलिए सम्पूर्ण विश्व में इस रिश्ते का बहुत ज्यादा सम्मान किया जाता हैं. ऐसे में भारत (India) देश कैसे पीछे रह सकता हैं.

भारत (India) देश को संस्कृतियों की जन्मभूमि भी कहा जाता हैं. भारत (India) में रक्षा बंधन पर्व (Raksha Bandhan Festival in Hindi) एक त्योहार के रूप में मनाते हैं. रक्षा बंधन पर्व 2021 (Raksha Bandhan in Hindi) हिन्दू धर्म का बहुत ही विशेष पर्व हैं.

रक्षा बंधन का त्योहार (Raksha Bandhan Festival in Hindi) सिर्फ भारत (India) में ही नहीं नेपाल सहित ऐसे अन्य देश जहाँ हिन्दू धर्म के लोग निवास करते हैं वहां भी बहुत ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता हैं.

रक्षा बंधन का त्योहार (Raksha Bandhan Festival in Hindi) श्रावण मास की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता हैं.

यह भी पढ़ें - रथयात्रा क्या है, जगन्नाथ रथयात्रा पर्व कब और किस दिन मनाया जाता है, पुरी रथयात्रा पर्व क्यों मनाया जाता हैं

 

रक्षा बंधन क्या है (Raksha Bandhan kya hai in Hindi, What is Raksha Bandhan in Hindi)

रक्षा बंधन दो शब्दों के मेल रक्षा एवं बंधन शब्द से मिलकर बना हुआ हैं. संस्कृत में रक्षा बंधन का अर्थ हैं वह बंधन जो रक्षा प्रदान करता हैं.

रक्षा बंधन भाई बहन के रिश्ते को प्रदर्शित करता हैं. रक्षा बंधन भाई बहन के पवित्र, निर्मल रिश्ते को प्रदर्शित करता हैं. रक्षा बंधन त्योहार आनंद एवं ख़ुशी प्रदान करने वाला त्योहार हैं.

रक्षा बंधन पर्व में बहन अपने भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र अथवा राखी (Rakhi in Hindi)  बांधती हैं और वही भाई अपनी बहन की रक्षा का वचन देता हैं.

यह भी पढ़ें - तुलसी (Tulsi, Basil) के फायदे एवं नुकसान, तुलसी (Tulsi, Basil) के पत्तों द्वारा घरेलू उपचार और नुस्खे, तुलसी (Tulsi, Basil) की पत्तियों के सेवन से होने वाले फायदे

 

रक्षा बंधन का अर्थ क्या हैं (What is the meaning of Raksha Bandhan in Hindi, Raksha Bandhan Meaning in Hindi)

रक्षा बंधन दो शब्दों के मेल रक्षा एवं बंधन शब्द से मिलकर बना हुआ हैं. संस्कृत में रक्षा बंधन का अर्थ हैं वह बंधन जो रक्षा प्रदान करता हैं.

यह भी पढ़ें - घर में नाखून की सुरक्षा एवं देखभाल करने के लिए आसान उपाय

 

रक्षा बंधन कब मनाया जाता हैं (When is Raksha Bandhan celebrated in Hindi)

रक्षा बंधन का त्यौहार (Raksha Bandhan 2021 Festival in Hindi) प्रत्येक वर्ष हिन्दू पंचांग के अनुसार श्रावण मास की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता हैं. जो कि अंग्रेजी कैलेण्डर के अनुसार अगस्त माह में पड़ता हैं.

यह भी पढ़ें - घर पर मात्र 5 मिनट में हैंड सैनिटाइजर बनाने का तरीका

 

रक्षा बंधन 2021 किस दिन तारीख को हैं, वर्ष 2021 में रक्षा बंधन  कब हैं (On which day and date is Raksha Bandhan 2021, When is Raksha Bandhan in the year 2021)

रक्षा बंधन का त्योहार (Raksha Bandhan Festival in Hindi) श्रावण मास की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता हैं. रक्षा बंधन पर्व 2021 तिथि (Raksha Bandhan Date 2021) में 22 अगस्त  दिन रविवार को पड़ेगा.

यह भी पढ़ें - चाय, बेड टी ( चाय ) के फायदे और नुकसान

 

वर्ष 2021 में राखी बाँधने का शुभ मुहूर्त कब है (Raksha Bandhan 2021 Muhurat Time in Hindi, When is the auspicious time to tie Rakhi in the year 2021)

अब हम आपको इस वर्ष राखी बांधने का शुभ मुहूर्त कितने बजे का है के बारें में बताएँगे.

इस साल राखी बाँधने का शुभ मुहूर्त प्रातः 6:15 बजे से सायं 07:40 बजे तक कुल 13 घंटे 25 मिनट हैं. इस वर्ष राखी बांधने का अपरान्ह मुहूर्त दोपहर में 01:42 से 04:18 तक एवं रक्षा बंधन मनाने का प्रदोष मुहूर्त सायं 08:08 से रात्रिकाल 10:18 तक रहेगा.

यह भी पढ़ें - कोरोना वायरस (कोविड – 19) सिर्फ फेफड़ों (Lungs) को नहीं मानव शरीर के ह्रदय ( दिल ), गुर्दा ( किडनी ) जैसे अंगों नुकसान पहुंचाता है

 

राखी किसे कहते हैं (Rakhi Meaning in Hindi, Who is called Rakhi in Hindi)

रक्षा बंधन का पर्व श्रावण मास की पूर्णिमा को मनाते हैं. रक्षा बंधन का त्योहार भाई बहन को स्नेह के धागे से बांधने का काम करता हैं. रक्षा बंधन भाई बहन के पवित्र, निर्मल रिश्ते को प्रदर्शित करता हैं. रक्षा बंधन के दिन बहन अपने भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधती हैं जिसे राखी कहा जाता हैं.

यह भी पढ़ें - एक गिलास गुनगुना (गर्म) जल (पानी) के 15 रामबाण फायदे गैस, कब्ज एवं पीरियड के दर्द से हमेशा के लिए मुक्ति

 

रक्षा बंधन क्यों मनाया जाता है (Raksha Bandhan kyo manaya jata hai in Hindi, Why is Raksha Bandhan celebrated in Hindi)

आप सभी के मन में यह प्रश्न जरूर आ रहा होगा कि हम लोग रक्षा बंधन क्यों मनाते हैं?

रक्षा बंधन भाई बहन के रिश्ते को प्रदर्शित करता हैं. रक्षा बंधन भाई बहन के पवित्र, निर्मल रिश्ते को प्रदर्शित करता हैं. रक्षा बंधन त्योहार आनंद एवं ख़ुशी प्रदान करने वाला त्योहार हैं.

रक्षा बंधन पर्व में बहन अपने भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र अथवा राखी (Rakhi in Hindi) बांधती हैं और वही भाई अपनी बहन की रक्षा एवं अपने कर्तव्यों को निभाने का वचन देता हैं.

वही कोई भी अन्य स्त्री पुरुष भी जो कि भाई बहन के रिश्तों की मर्यादायों को समझते हैं रक्षा बंधन का त्योहार मना सकते हैं.

रक्षा बंधन पर्व पर बहन अपने भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र अथवा राखी (Rakhi in Hindi) बांधती हैं और ईश्वर से प्रार्थना करती हैं कि उसका भाई जीवन भर हंसी ख़ुशी एवं स्वस्थ रहे और वही भाई अपनी बहन की रक्षा, अपने कर्तव्यों को निभाने एवं हमेशा बहन का साथ देने का  वचन देता हैं. भाई भी ईश्वर से प्रार्थना करता हैं कि उसकी बहन जीवनभर हंसी ख़ुशी, स्वस्थ रहे एवं दीर्घायु हो.

यह भी पढ़ें - तरबूज का ज्यादा सेवन शरीर के लिए हानिकारक हो सकता हैं

 

रक्षा बंधन पर कहानी (Raksha Bandhan Story in Hindi, Story on Raksha Bandhan in Hindi)

रक्षा बंधन पर्व (Raksha Bandhan Festival in Hindi) मनाने के पीछे कई प्रचलित कहानियां (Raksha Bandhan ki Kahani in Hindi)  हैं. रक्षा बंधन कब से और क्यों मनाया जाता हैं से सम्बन्धी कुछ प्रमुख पौराणिक कथाएं निम्नलिखित हैं.

यह भी पढ़ें - Indian Railway Catering and Tourism Corporation – IRCTC (भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम) क्या हैं, Full Form in Hindi, IRCTC पर Account कैसे बनाये

 

1 - इन्द्रदेव की पत्नी सची और भगवान् विष्णु की रक्षा बंधन की कहानी (Raksha Bandhan Ki Kahani in Hindi, Raksha Bandhan Story in Hindi)

एक बार देवताओं के ऊपर असुरों के राजा बलि ने आक्रमण कर दिया. इस युद्ध में देवराज इंद्र को बहुत हानि पहुंची थी. देवराज इंद्र की स्थिति को देखकर उनकी धर्मपत्नी सची भगवान् विष्णु के पास गई और उनसे मदद की गुहार लगाई.

भगवान् विष्णु ने एक धागा देवी सची को दिया और कहा कि यह धागा ले जाकर देवराज इंद्र की कलाई में बाँध दो. देवी सची ने भगवान् विष्णु द्वारा दिए गए धागे को ले जाकर देवराज इंद्र की कलाई में बाँध दिया. जिसके कारण असुरों के राजा बलि की हार हुई.

इसी कारण प्राचीन समय में जब भी कोई राजा युद्ध पर जाता था तो राजा एवं उनके सैनिकों की कलाई पर उनकी पत्नी एवं बहनें रक्षा सूत्र अथवा राखी (Rakhi in Hindi) बाँध देती थी जिससे वह सब विजयी होकर कुशलतापूर्वक वापस घर आ सकें.

यह भी पढ़ें - High Security Registration Plate – HSRP / High Security Number Plate क्या हैं और Online Apply / Registration / Booking  कैसे करें हिंदी में, Home Delivery, Price, Fees एवं फायदे, Full Form Hindi में

 

2 - माता लक्ष्मी एवं राजा बलि की रक्षा बंधन की कहानी (Raksha Bandhan Ki Kahaniyan in Hindi, Raksha Bandhan Story in Hindi) 

असुरों के राजा बलि भगवान् विष्णु का अनन्य भक्त था. असुरराज बलि की भक्ति से प्रभावित होकर भगवान् विष्णु स्वयं उसके राज्य की सुरक्षा करते थे.

इस स्थिति में भगवान् विष्णु अपने धाम बैकुंठ में अनुपस्थित रहने लगे जिसके कारण देवी लक्ष्मी बहुत परेशान रहने लगी. इसे लिए देवी लक्ष्मी ने एक युक्ति निकली और ब्राह्मण स्त्री का वेश धारण करके असुरराज बलि के राजमहल में निवास करने लगी.

कुछ समय के उपरान्त माता लक्ष्मी ने असुरराज बलि की कलाई पर रक्षा सूत्र अथवा राखी (Rakhi in Hindi) बाँध दिया एवं असुरराज बलि द्वारा कुछ देने का वचन ले लिया.

माता लक्ष्मी ने असुरराज बलि से भगवान् विष्णु को उनके साथ वापस बैकुंठ धाम लौटने के लिए कहा. असुरराज बलि ने माता लक्ष्मी को वचन दिया था इसलिए भगवान् विष्णु को उनके साथ वापस बैकुंठ धाम लौटना पड़ा.

इस कारण रक्षा बंधन को कई जगह बलेव्हा भी कहते हैं.

यह भी पढ़ें - Covid – 19 ( Corona Virus ) Helpline Number

 

3 - भगवान् श्री कृष्ण एवं द्रौपदी की रक्षा बंधन की कहानी (Raksha Bandhan Short Story in Hindi, Raksha Bandhan Story in Hindi) 

मानवता की सुरक्षा के लिए भगवान् श्री कृष्ण ने पापी राजा शिशुपाल का वध किया था. इस युद्ध में भगवान् श्री कृष्ण के अंगूठे में चोट लग गई थी.

यह देखकर द्रौपदी ने अपने वस्त्र से कपडे का टुकड़ा फाड़ कर भगवान् श्री कृष्ण के अंगूठे में बाँध दिया. द्रौपदी द्वारा किये गए इस कार्य से भगवान् श्री कृष्ण बहुत प्रसन्न हुए और द्रौपदी की रक्षा का वचन दिया.

कुछ समय के पश्चात पांडवो द्वारा जुए के खेल में द्रौपदी की हार हुई. तब कौरवों के राजकुमार दुःशासन बीच सभा में द्रौपदी का चीर हरण करने लगा तब भगवान् श्री कृष्ण ने द्रौपदी की रक्षा करके उसकी लाज को बचाया था.

यह भी पढ़ें - JioMart क्या है (JioMart Kya Hai) - JioMart से सामान ऑनलाइन आर्डर कैसे करे

 

4 - महाभारत में रक्षा सूत्र अथवा राखी की कहानी (Rakhi Story in Hindi, Raksha Bandhan Story in Hindi)

महाभारत युद्ध शुरू होने के पूर्व भगवान् श्री कृष्ण ने युधिष्ठिर से कहा कि यदि महाभारत के युद्ध में स्वयं की एवं सैनिकों की सुरक्षा करनी हैं तो सभी को रक्षा सूत्र अथवा राखी (Rakhi in Hindi) का प्रयोग करना होगा.

ऐसे में द्रौपदी ने भगवान् श्री कृष्ण की कलाई एवं माता कुंती ने अपने नाती और अपने पुत्रों की कलाई पर रक्षा सूत्र अथवा राखी (Rakhi in Hindi) बाँधा था.

यह भी पढ़ें – Instagram Video Download कैसे करें

 

5 - भगवान् गणेश एवं माता संतोषी की रक्षा बंधन की कहानी (Raksha Bandhan Mythological Short Story in Hindi, Raksha Bandhan Story in Hindi) 

भगवान् गणेश के पुत्र शुभ एवं लाभ को यह दुःख था कि उनकी कोई बहन नहीं हैं. शुभ लाभ अपने पिता भगवान् गणेश से एक बहन के लिए जिद करने लगे.

ऐसी विकट स्थिति को देखते हुए देवर्षि नारद जी ने भगवान् गणेश जी से प्रार्थना की. तब भगवान् गणेश जी ने अपनी शक्ति से एक कन्या को उत्पन्न किया जिसका नाम संतोषी रखा गया.

यह भी पढ़ें – WhatsApp Call Record कैसे करें

 

6 - मृत्यु के देवता यम एवं यमुना जी की रक्षा बंधन की कहानी (Raksha Bandhan ki Kahani in Hindi, Raksha Bandhan Story in Hindi

प्राचीन कथा के अनुसार लगभग 12 वर्षों तक मृत्यु के देवता यम अपनी बहन यमुना जी से मिलने नहीं गए थे. इस कारण यमुना जी बहुत दुखी रहने लगी ही.

ऐसे में माता गंगा जी के कहने पर मृत्यु के देवता यम जी अपनी बहन यमुना जी से मिलने गए. अपने भाई मृत्यु के देवता यम जी को देखकर यमुना जी अत्यधिक प्रसन्न हुई और उनकी खूब सेवा सत्कार किया.

जिससे यमदेव बहुत प्रसन्न हुए और अपनी बहन यमुना जी से कुछ मांगने के लिए कहा. यमुना जी ने यमदेव से कहा कि मुझे आपसे बारम्बार मिलना हैं.

यमदेव ने उनकी इस इच्छा को पूरा किया,जिसके कारण यमुना जी को अमरता प्राप्त हुई.

यह भी पढ़ें – Microsoft Windows 11 में Screenshot कैसे लें

 

रक्षा बंधन का इतिहास क्या हैं (Raksha Bandhan History in Hindi, What is the history of Raksha Bandhan in Hindi)

सभी पर्वों की तरह रक्षा बंधन पर्व का भी इतिहास (Raksha Bandhan ka Itihas in Hindi) हैं. रक्षा बंधन पर्व 2021 (Raksha Bandhan in Hindi) भारत (India) में मनाया जाने वाला एक प्रमुख त्योहार हैं. रक्षा बंधन 2021 (Raksha Bandhan 2021 in Hindi) पूरे देश में बहुत ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता हैं.

भारत (India) में रक्षा बंधन पर्व (Raksha Bandhan Festival in Hindi) एक त्योहार के रूप में मनाते हैं. रक्षा बंधन पर्व 2021 (Raksha Bandhan 2021 in Hindi) हिन्दू धर्म का बहुत ही विशेष पर्व हैं.

रक्षा बंधन त्यौहार के इतिहास से सम्बन्धी कुछ प्रमुख कथाएं निम्नलिखित हैं.

यह भी पढ़ें – Telegram में अपना Mobile Number कैसे Hide करें हिंदी में (How to Hide Phone Number in Telegram in Hindi)

 

1 - सम्राट Alexander एवं सम्राट पुरु की रक्षा बंधन की कहानी (Raksha Bandhan Story in Hindi)

सम्राट Alexander एवं सम्राट पुरु की रक्षा बंधन की कहानी (Short Story on Raksha Bandhan in Hindi) सन 300 BC की हैं. उस समय भारत (India) विजय के लिए सम्राट Alexander अपनी सेना लेकर आया था. उसी समय सम्राट पुरु का भारत (India) में बोलबाला था.

सम्राट Alexander एक वीर, साहसी राजा था लेकिन सम्राट पुरु ने उसे नाकों चने चबवा दिए थे. सम्राट Alexander की धर्मपत्नी को रक्षा बंधन के बारे में जानकारी प्राप्त हुई तो उसने सम्राट पुरु को रक्षा सूत्र अथवा राखी (Rakhi in Hindi) भेजवाया.

सम्राट पुरु ने भी सम्राट Alexander की धर्मपत्नी को बहन मानते हुए युद्धविराम की घोषणा कर दी.

यह भी पढ़ें – Airplane Mode / Flight Mode अथवा Phone Switch Off किये बिना Smartphone पर Incoming Calls कैसे रोकें

 

2 – रानी कर्णावती एवं सम्राट हुमायूँ की रक्षा बंधन की कहानी (Raksha Bandhan Short Story in Hindi, Raksha Bandhan Story in Hindi) 

रानी कर्णावती चितौड़ की शासक थी. रानी कर्णावती के विधवा एवं अकेले होने के कारण गुजरात के सुल्तान बहादुर शाह ने चितौड़ पर आक्रमण कर दिया था.

रानी कर्णावती चितौड़ को बचा पाने में अपने को असमर्थ महसूस कर रही थी. उस वक़्त रक्षा बंधन त्योहार का प्रचलन था. रानी कर्णावती ने मुग़ल शासक हुमांयू को एक रक्षा सूत्र अथवा राखी (Rakhi in Hindi) भेजवाया और चितौड़ की रक्षा के लिए मदद की मांग की.

मुग़ल शासक हुमांयू ने रक्षा सूत्र अथवा राखी (Rakhi in Hindi) को स्वीकार करते हुए बहन रानी कर्णावती की मदद के लिए अपनी सेना को चितौड़ भेजा. जिसके कारण गुजरात के सुल्तान बहादुर शाह ने चितौड़ से अपने पाँव वापस खींच लिए.

यह भी पढ़ें – Aarogya Setu App से COVID - 19 / Corona Vaccine लगवाने के लिए Online Registration कैसे करें हिंदी में

 

रक्षा बंधन कैसे मनाया जाता है, रक्षा बंधन कैसे मनाये (How Raksha Bandhan is celebrated in Hindi, How to celebrate Raksha Bandhan in Hindi)

यहाँ हम रक्षा बंधन का त्यौहार कैसे मनाते है (How is Raksha Bandhan celebrated in Hindi) के बारे में विस्तारपूर्वक जानेंगे.

रक्षा बंधन के दिन मन एवं शरीर को पवित्र करने के लिए प्रातः काल स्नान कर लेना चाहिये.

अब इसके बाद भगवान् की पूजा अर्चना करना चाहिये.

इसके बाद आप राखी की थाल को सजाइए. रक्षा बंधन पर्व के दिन राखी की थाल के लिए आप एक पीतल की थाल लीजिये.

इस थाल में राखी, चंदन, दीपक, कुमकुम, हल्दी, चावल के दाने पुष्प एवं मिठाई रखिये.

अब हम आपको राखी बांधने की विधि बताएँगे.

यह भी पढ़ें – CoWIN App 2.0 क्या हैं हिंदी में, CoWIN Web Portal पर COVID - 19 / Corona Vaccine लगवाने के लिए कैसे Registration करें in Hindi

 

राखी बांधने की विधि क्या हैं, राखी कैसे बांधते हैं (What is the method of tying Rakhi in Hindi)

अपने भाई को एक स्वच्छ स्थान पर बैठाइये. सर्वप्रथम आप राखी की थाल में रखे दीपक को प्रज्ज्वलित कीजिये. 

अब अपने भाई के मस्तक पर चन्दन का तिलक लगाइए. इसके बाद बहन अपने भाई की आरती उतारती हैं .

फिर बहन अपने हाथों में अक्षत लेकर भाई के ऊपर फेंकती हैं. इसके बाद बहन अपने भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र को बांधती हैं और भाई को मिठाई खिलाती हैं.

अब यदि बहन उम्र में बड़ी होती हैं तो भाई अपनी बहन के चरण स्पर्श करके आशीर्वाद लेता हैं और यदि भाई उम्र में बड़ा हो तो बहन अपने भाई के चरण स्पर्श करके आशीर्वाद लेती हैं.

अब इसके बाद भाई अपनी बहन को यथा क्षमता अनुसार एक उपहार देता हैं. इसके बाद राखी बांधने की रस्म पूरी हो जाती हैं.

इस पूरी प्रक्रिया के पूर्ण होने तक भाई बहन को व्रत (भूखा) रखना पड़ता हैं.

यह भी पढ़ें – WhatsApp Calling से Mobile Data कैसे बचाये, WhatsApp Calling से Mobile Internet Data कैसे Save करें

 

भारत (India) के अन्य धर्मों में रक्षा बंधन पर्व 2021 कैसे मनाया जाता है (How Raksha Bandhan festival 2021 is celebrated in other religions of India in Hindi)

यहाँ हम जानेंगे कि भारत (India) के अन्य धर्मों में रक्षा बंधन पर्व 2021 कैसे मनाया जाता है.

यह भी पढ़ें - Indian Railway Catering and Tourism Corporation - IRCTC Account से Aadhaar Card / Aadhar Number कैसे Link करें हिंदी में (Aadhaar Card / Aadhar Number को IRCTC Account से कैसे Link करें)

 

1 - हिंदू धर्म (सनातन धर्म) में रक्षा बंधन पर्व 2021 कैसे मनाया जाता है (How Raksha Bandhan festival 2021 is celebrated in Hinduism / Sanatan Dharma in Hindi)

रक्षा बंधन पर्व 2021 (Raksha Bandhan in Hindi) भारत में कैसे मनाया जाता हैं आपको नीचे विस्तारपूर्वक पढने को मिलेगा.

रक्षा बंधन का त्योहार हिंदू धर्म (सनातन धर्म) का एक प्रमुख त्योहार हैं. रक्षा बंधन पर्व 2021 (Raksha Bandhan 2021 in Hindi) भारत (India) में मनाया जाने वाला एक प्रमुख त्योहार हैं. रक्षा बंधन पर्व 2021 (Raksha Bandhan in Hindi) पूरे देश में खासकर उत्तर एवं पश्चिम क्षेत्र में बहुत ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता हैं.

रक्षा बंधन का  त्योहार (Raksha Bandhan Festival 2021 in Hindi) सिर्फ भारत में ही नहीं नेपाल सहित ऐसे अन्य देश जहाँ हिन्दू धर्म के लोग निवास करते हैं वहां भी बहुत ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता हैं.

यह भी पढ़ें - Signal Private Messenger App क्या हैं हिन्दी में, Signal Private Messenger App Free में कैसे Download करे और कैसे Use करें हिंदी में, Features, Policy

 

2 - जैन धर्म में रक्षा बंधन 2021 कैसे मनाया जाता है (How Raksha Bandhan 2021 is celebrated in Jainism in Hindi)

जैन धर्म के अनुसार जैन पुजारी जैन भक्तों को एक पवित्र धागा देते हैं.

यह भी पढ़ें - CoWIN App क्या हैं हिन्दी में, CoWIN Web Portal क्या हैं हिंदी में, CoWIN App Free में कैसे Download करें हिंदी में, CoWIN App Full Form, CoWIN App Module,  CoWIN App Important Features

 

3 - सिख धर्म में रक्षा बंधन 2021 कैसे मनाया जाता है (How Raksha Bandhan 2021 is celebrated in Sikhism in Hindi)

सिख धर्म के अनुसार रक्षा बंधन को राखाडी अथवा राखरी के नाम से जाना जाता हैं. सिख धर्म में भी यह त्योहार भाई बहन मिलकर मनाते हैं.

यह भी पढ़ें - Telegram (App, Web Version) क्या हैं हिंदी में, Telegram App को Free में कैसे Download करें और Account कैसे बनाये, Telegram Group, Telegram Channel, Telegram Stickers, Telegram Bots, Security Features

 

भारत (India) के अन्य राज्यों में रक्षा बंधन पर्व 2021 कैसे मनाया जाता है (How Raksha Bandhan festival 2021 is celebrated in other states of India in Hindi)

भारत (India) एक विशाल देश हैं. यह कई राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित हैं. सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों की संस्कृति अलग अलग होने के कारण रक्षा बंधन पर्व कई तरीकों से मनाया जाता हैं.

यहाँ हम भारत (India) के अन्य राज्यों में रक्षा बंधन पर्व 2021 कैसे मनाया जाता हैं के बारे में विस्तारपूर्वक जानेंगे.

यह भी पढ़ें - JioMeet  क्या हैं , JioMeet को कैसे Use करें, JioMeet की पूरी जानकारी

 

1 - पश्चिमी घाट में रक्षा बंधन त्योहार कैसे मनाया जाता हैं (How Raksha Bandhan festival is celebrated in Western India in Hindi)

पश्चिमी घाट में रक्षा बंधन त्योहार भगवान् वरुण को देय के रूप में मनाते हैं. भगवान् वरुण समुद्र के देवता हैं. रक्षा बंधन के दिन नारियल को समुद्र में डालकर कर भगवान् वरुण को अर्पित किया जाता हैं इसलिए राखी पूर्णिमा को नारियल पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता हैं.

यह भी पढ़ें - WhatsApp Web क्या हैं हिंदी में और कंप्यूटर (डेस्कटॉप) पर कैसे काम करता हैं, WhatsApp Web Version का प्रयोग कैसे करें, WhatsApp Web (web.whatsapp.com) के बारे में जानकारी

 

2 - दक्षिण भारत में रक्षा बंधन त्योहार कैसे मनाया जाता हैं (How Raksha Bandhan festival is celebrated in South India in Hindi)

दक्षिण भारत में रक्षा बंधन त्योहार को अवनी अबित्तम के नाम से जाना जाता हैं. अवनी अबित्तम का दिन ब्राह्मण वर्ग के लिए बहुत महत्वपूर्ण दिन होता हैं. इस दिन ब्राह्मण वर्ग के लोग स्नान आदि से निवृत्त होकर के वैदिक मंत्रोचारण के साथ अपने जनेऊ को बदल देते हैं. इस प्रसंग को श्रावणी अथवा ऋषि तर्पण कहते हैं.

यह भी पढ़ें - Youtube ऐप का सब्सक्रिप्शन पैक लिए बिना अपने स्मार्टफोन के बैकग्राउंड में वीडियो कैसे देखे

 

3 - उत्तर भारत में रक्षा बंधन त्योहार कैसे मनाया जाता हैं (How Raksha Bandhan festival is celebrated in North India in Hindi)

उत्तर भारत में रक्षा बंधन पर्व को कजरी पूर्णिमा के नाम से भी मनाया जाता हैं. कजरी पूर्णिमा के दिन किसान लोग अपने खेत में गेंहू, धान जैसी अन्य अनाज को छिड़ककर माता भगवती की विधि विधान से पूजा अर्चना करते हैं और माता भगवती से अच्छी फसल, सुख समृद्धि का आशीर्वाद मांगते हैं.

यह भी पढ़ें - Aarogya Setu App क्या है और Free में कैसे Download करें हिंदी में, Aarogya Setu App पर कैसे Account Create करें हिंदी में

 

4 - गुजरात में रक्षा बंधन त्योहार कैसे मनाया जाता हैं (How Raksha Bandhan festival is celebrated in Gujarat in Hindi)

गुजरात में श्रावण मास के महीने में हर सोमवार के दिन भगवान् शंकर जी का जलाभिषेक करते हैं. श्रावण मास में रुई को पंच्कव्य में डालकर उसे शिवलिंग पर बाँध दिया जाता हैं. इस अनुष्ठान को पवित्रोपन्ना कहते हैं.

यह भी पढ़ें - Google Meet क्या हैं? Google Meet App & Gmail को कैसे इस्तेमाल करें? Google Meet के फायदे

 

रक्षा बंधन का महत्त्व (Importance of Raksha Bandhan festival 2021 in Hindi)

रक्षा बंधन के त्यौहार का महत्त्व (Raksha Bandhan Importance) बहुत ही विशेष हैं. रक्षा बंधन भाई बहन के रिश्ते का प्रतीक हैं. रक्षा बंधन भाई बहन के पवित्र, निर्मल रिश्ते को प्रदर्शित करता हैं. रक्षा बंधन त्योहार आनंद एवं ख़ुशी प्रदान करने वाला त्योहार हैं.

रक्षा बंधन पर्व में बहन अपने भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र अथवा राखी (Rakhi in Hindi) बांधती हैं और वही भाई अपनी बहन की रक्षा एवं अपने कर्तव्यों को निभाने का वचन देता हैं.

वही कोई भी अन्य स्त्री पुरुष भी जो कि भाई बहन के रिश्तों की मर्यादायों को समझते हैं रक्षा बंधन का त्योहार मना सकते हैं.

रक्षा बंधन पर्व पर बहन अपने भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र अथवा राखी (Rakhi in Hindi) बांधकर ईश्वर से प्रार्थना करती हैं कि उसका भाई जीवन भर हंसी ख़ुशी एवं स्वस्थ रहे और वही भाई अपनी बहन की रक्षा, अपने कर्तव्यों को निभाने एवं हमेशा बहन का साथ देने का  वचन देता हैं.

भाई भी ईश्वर से प्रार्थना करता हैं कि उसकी बहन जीवनभर हंसी ख़ुशी, स्वस्थ रहे एवं दीर्घायु हो.

यह भी पढ़ें  यदि आप पुराने स्मार्टफोन को नए स्मार्टफोन से Exchange कर रहे हैं या स्मार्टफोन को बेच चुके हैं तो इस स्मार्ट ट्रिक का प्रयोग करने से आप अपने पुराने स्मार्टफोन का डेटा Delete कर सकते हैं

 

रक्षा बंधन शायरी 2021 (Raksha Bandhan 2021 Shayari in Hindi)

वर्तमान समय में लोग Technology का प्रयोग ज्यादा करने लगे हैं. रक्षा बंधन त्यौहार पर भी लोग अपने मित्रों, पारिवारिक सदस्यों एवं रिश्तेदारों को Smartphone द्वारा Rakhi Shayari 2021 एक दूसरे को भेजकर अपनी भावनाएं व्यक्त करते हैं.

यह भी पढ़ेंइस स्मार्ट ट्रिक का प्रयोग करने से आपके स्मार्टफोन का लॉक खुला रहने के बाद भी कोई भी आपके स्मार्टफ़ोन को प्रयोग नहीं कर पायेगा

 

Raksha Bandhan Quotes in Hindi

वर्तमान समय में लोग Technology का प्रयोग ज्यादा करने लगे हैं. रक्षा बंधन त्यौहार पर भी लोग अपने मित्रों, पारिवारिक सदस्यों एवं रिश्तेदारों को Smartphone द्वारा Raksha Bandhan 2021 Quotes in Hindi एक दूसरे को भेजकर अपनी भावनाएं व्यक्त करते हैं.

यह भी पढ़ें - क्या आप जानते हैं कि Facebook Messenger App (फेसबुक मैसेंजर एप्लीकेशन) में एक Secret Inbox भी होता हैं

 

Raksha Bandhan Status In Hindi

रक्षा बंधन त्यौहार पर लोग अपने सोशल मीडिया एकाउंट पर Raksha Bandhan Status के रूप में रक्षा बंधन बधाई सन्देश एवं रक्षा बंधन शुभकामना सन्देश लिखकर मित्रों, पारिवारिक सदस्यों एवं रिश्तेदारों को अपनी भावनाएं व्यक्त करते हैं.

यह भी पढ़ें - इस ट्रिक की सहायता से आप WhatsApp Messenger पर वर्षों पुराने भेजे गए मैसेजों को भी बहुत आसानी से सभी के लिए Delete (Delete For Everyone) कर सकते हैं

 

Raksha Bandhan Image

रक्षा बंधन त्यौहार पर लोग अपने सोशल मीडिया एकाउंट पर Raksha Bandhan Status के रूप में रक्षा बंधन बधाई सन्देश एवं रक्षा बंधन शुभकामना सन्देश लिखी हुई Raksha Bandhan 2021 PNG Image लगाकर मित्रों, पारिवारिक सदस्यों एवं रिश्तेदारों को अपनी भावनाएं व्यक्त करते हैं.

यह भी पढ़ें - Caller Name Announcer Pro App अब आपका Smartphone खुद नाम लेकर बताएगा कि किसका कॉल या मैसेज रहा हैं, Caller Name Announcer Pro App (एप्लीकेशन) क्या हैं और इसे कैसे Use करें

 

Frequently Asked Questions about Raksha Bandhan (Raksha Bandhan FAQ)

प्रश्न - रक्षाबंधन कब से मनाया जाता है? (When is Rakshabandhan celebrated?)

उत्तर - रक्षा बंधन त्यौहार पौराणिक काल से मनाया जा रहा हैं.

प्रश्न - रक्षा बंधन की शुरुआत किसने की थी? (Who started Raksha Bandhan?)    

उत्तर - रक्षा बंधन त्यौहार पौराणिक काल से मनाया जा रहा हैं. इसलिए यह बताना कठिन हैं कि रक्षा बंधन किसने प्रारंभ किया था.

प्रश्न - राखी 2021 में कितनी तारीख को है? (Rakhi is on what date in 2021?)

उत्तर - राखी बंधन 2021 में 22 अगस्त को है.

प्रश्न - राखी क्यों बाँधी जाती है? (Why is Rakhi tied?)

उत्तर - रक्षा बंधन पर्व पर बहन अपने भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र अथवा राखी बांधती हैं और ईश्वर से प्रार्थना करती हैं कि उसका भाई जीवन भर हंसी ख़ुशी एवं स्वस्थ रहे और वही भाई अपनी बहन की रक्षा, अपने कर्तव्यों को निभाने एवं हमेशा बहन का साथ देने का वचन देता हैं. भाई भी ईश्वर से प्रार्थना करता हैं कि उसकी बहन जीवनभर हंसी ख़ुशी, स्वस्थ रहे एवं दीर्घायु हो.

प्रश्न - राखी कौन से हाथ में बाँधी जाती है? (In which hand Rakhi is tied?)

उत्तर - राखी दाहिने हाथ की कलाई पर बाँधी जाती हैं.

प्रश्न - रक्षाबंधन का इतिहास कितने साल पुराना है? (How old is the history of Rakshabandhan?)

उत्तर - रक्षा बंधन से सम्बंधित पौराणिक काल की कथाएं हैं इसलिए यह बताना कठिन हैं कि रक्षा बंधन त्यौहार का इतिहास कितने वर्ष पुराना हैं.

यह भी पढ़ें - यदि आपका Smartphone Hang हो रहा हो तो इस स्मार्ट ट्रिक का प्रयोग करने से आपका Smartphone तेज चलने लगेगा

 

Conclusion

मुझे उम्मीद हैं कि आज के Article रक्षा बंधन कब हैं और क्यों मनाया जाता हैं in Hindi पसंद आया होगा.

आज के Article में आपने रक्षा बंधन पर्व कब मनाया जाता है in Hindi, रक्षा बंधन 2021 किस दिन व तारीख को हैं in Hindi, रक्षा बंधन क्यों मनाया जाता हैं in Hindi, रक्षा बंधन का इतिहास क्या हैं in Hindi, रक्षा बंधन कैसे मनाया जाता हैं in Hindi, रक्षा बंधन का महत्व in Hindi, रक्षा बंधन कब हैं in Hindi, रक्षा बंधन की कहानी in Hindi, Raksha Bandhan Quotes in Hindi, Raksha Bandhan Status In Hindi, Raksha Bandhan Image, Raksha Bandhan Hindi Essay, Raksha Bandhan Shayari 2021 के बारें में विस्तारपूर्वक जानकारी प्राप्त की हैं.

यदि आपको What is Raksha Bandhan in Hindi Full Information 2021 के सम्बन्ध में कोई सुझाव देना हो तो Comment कीजिये एवं Article रक्षा बंधन कब हैं in Hindi को अधिक से अधिक लोगों को Share कीजिये.

 

यह भी पढ़ें - Instagram Reels क्या है और इसे Free में कैसे Download करें, Instagram Reels को कैसे Use करे, Instagram Reels कैसे Create करें

यह भी पढ़ें - Diksha App क्या है Diksha App (दीक्षा ऐप - एप्लीकेशन) को Free में कैसे Download करें और कैसे Use करे, Full Form

यह भी पढ़ें - Nishtha App क्या है Nishtha App (निष्ठा ऐप - एप्लीकेशन) को Free में कैसे Download करें और कैसे Use करे, Full Form, NISHTHA Teacher Training Scheme क्या हैं

Post a Comment

0 Comments